भाजपा विधायकों वंदना वर्मा और विक्रम सैनी के वायरल आडियो से सियासी पारा गर्म

0
324

मुजफ्फरनगर। जिला पंचायत वार्ड सदस्य 34 के उप चुनाव से पहले प्रत्याशी को लेकर भाजपा विधायक विक्रम सैनी और एमएससी वंदना वर्मा के वायरल ओडियो में जातिवादी टिप्पणियों को लेकर सियासी बवाल मचा है। दो ओडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहे हैं। एक में वंदना वर्मा विधायक पर आरोप लगा रही हैं तो दूसरे में विधायक विक्रम सैनी एमएलसी से तीखी बहस कर रहे हैं। दोनों जाति आधारित बात भी कर रहे हैं।
पहले वायरल ओडियो में उम्मीदवार रोशन लाल सैनी ने एमएलसी वंदना वर्मा को फोन कर समर्थन मांगा। उन्होंने उनके प्रति दया दृष्टि बनाने का अनुरोध किया। जिस पर एमएलसी वंदना वर्मा ने कह रही हैं कि जब विधायक विक्रम सैनी घूम सकते हैं तो मैं क्यों नहीं घूम सकती? विधायक जी अकेले सैनियो में घूम रहे हैं।
विधायक का कहना यहीं है कि सारे पद जाटों को ही चाहिए क्या या ठाकुरों को ही चाहिए क्या? आगे कहती हैं कि मैं निकल नहीं रही थीं, मजबूरी में निकली हूं। यह बात गलत है। जाति विशेष के बारे में गलत कहोगे तो हमने चूड़ी तो नहीं पहन रखी। अब तो मैं लड़ाऊंगी, जिसे चाहूंगी। अब मैं हर बार की भांति विधायक को भी लड़ाऊंगी।
दूसरे ओडियो में विधायक विक्रम सैनी और एमएलसी वंदना वर्मा के बीच दो मिनट 28 सेंकेड़ की बहस है। ओडियो में विक्रम सैनी ने वंदना वर्मा से कहा कि एक ओडियो सुनी हमने आपकी, किसी ने वाट्सप की, आप कह रही हैं कि विक्रम सैनी गांव में घूम रहा हैं, जिस गांव में घूम रहा हूं, सुबूत दे दें, आज ही इस्तीफा दे दूंगा। ओडियो में वंदना वर्मा कहती है कि इस्तीफा देने से काम नहीं चलेगा। मैं पूछकर बता दूंगी।
इस पर विक्रम सैनी कहते हैं कि पूछकर क्या बता दोगी.. आपकी ओडियो बता रही है कि मैं 70 जगह गया। मैं किस गांव में गया, मुझे बता दो। कैंडीडेट अमित कसाना व रोशन लाल आया था। मैंने कहा जिसे पार्टी समर्थन करेगी उसके साथ रहेंगे। यदि पार्टी समर्थन नहीं करेगी तो साथ नहीं रहेंगे। आप जातिवाद की बात कर रही हैं साहब.. विक्रम सैनी जाटों को यह कह रहा, ठाकुरों को यह कह रहा। किसके सामने कहा? क्या मैं निर्वाल के साथ नहीं रहा, क्या जाट संजीव बालियान के साथ नहीं रहा? आपके चुनाव में साथ नहीं रहा क्या? आप कह रही हैं कि ऐसे घूम रहा है। जातिवाद मेरे अंदर नहीं है। आप उनके साथ घूम रही हो जो पार्टी का भी नहीं है। आप केवल जातिवाद के कारण घूम रही हो। आपको अपने घर बैठना चाहिए चुपचाप। मैं भी बैठा हूं। नहीं तो हमें घूमना पड़ेगा। हम भी अपने सैनी नेता बुला लेंगे। बहुत नेता है हमारे। गुर्जर भी आ जाएंगे, सारे नेता आ जाएंगे। बिरादरी का चुनाव नहीं है यह। आप एमएलसी बीजेपी से बनी हो, खालिस अपनी बिरादरी से नहीं बनी। इस पर वंदना वर्मा कहती है कि आप कह रहे हो कि सारे पद जाटों को दे दिए।
विक्रम सैनी ने कहा कि ये किसने कहा, कब कहा। वंदना वर्मा ने कहा कि मैं बता दूंगी आपको। विक्रम सैनी कहते हैं कि अरे क्या बता देंगी। सुनी सुनाई बात, दुनिया कहती है। आप तो खुद ही सैनियों के खिलाफ हो, जबकि सैनियों की वोट से आप जीती। वंदना वर्मा ने कहा कि मैं तो सबकी हूं। इस पर विक्रम सैनी कहते हैं कि फिर आरोप क्यों लगा रही हैं आप। ऐसे बदनाम न करो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here