मुजफ्फरनगर में काली राखी प्रकरण में एक और मुक़दमा दर्ज

0
73

मुजफ्फरनगर। गंगनहर पटरी पर सिंचाई विभाग की भूमि पर पडी कैमिकलयुक्त राख का मामला लगातार जारी है। राख डालने वाले ठेकेदार व उसके दो पुत्रों के खिलाफ पुलिस ने पुनः मुकदमा दर्ज किया है।सिखेडा थाना क्षेत्र के ग्राम भिक्की निवासी अहसान ने थाने पर तहरीर दी थी कि गत 26 जुलाई को उसका साला मोमीन तथा मोमीन का भतीजा नंगला बुजुर्ग क्षेत्र में लकडियां बीनने गये थे कि वह दोनों वहां पडी कैमिकलयुक्त गर्म राख में धंसकर घायल हो गये थे। अहसान ने नंगला बुजुर्ग निवासी ठेकेदार इरफान उर्फ भूरा, उसके पुत्र गुल मौहम्मद तथा आसिफ के खिलाफ गम्भीर आरोप लगाये हैं।

पुलिस ने आरोपी ठेकेदार भूरा उसके पुत्र गुल मौहम्मद तथा आसिफ के खिलाफ धारा 285, 278, 338 के अन्तर्गत मुकदमा दर्ज किया है। भूरा ठेकेदार को पुलिस पूर्व में दर्ज मुकदमे में शुक्रवार को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। जबकि उसके पुत्रों की गिरफ्तारी अभी शेष है। ठेकेदार भूरे द्वारा गंगनहर पटरी पर कैमिकलयुक्त राख सिंचाई विभाग के बडे भूभाग पर डाली गयी है।

जिसमें झुलस कर मौ. नबी निवासी नंगला बुजर्ग की मौत हो चुकी है। मौ. नबी 9 जौलाई को इस गर्म राख में धंसकर जल गया था। गत 26 जौलाई को भिक्की निवासी मोमीन व सैफ भी गर्म राख में जलकर झुलस चुके हैं। दोनों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। गर्म राख वाले स्थान की बैरिकेटिंग प्रशासन द्वारा कराई गयी है। राख प्रकरण को लेकर सिंचाई विभाग प्रदूषण विभाग व प्रशासन पर लापरवाही के आरोप लगे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here