मुजफ्फरनगर में वोट को आधार से जोड़ने का अभियान एक अगस्त से : नरेंद्र बहादुर सिंह

0
166

मुजफ्फरनगर। अपर जिलाधिकारी प्रशासन/उप जिला निर्वाचन अधिकारी नरेन्द्र बहादुर सिंह ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार विधानसभा निर्वाचक नामावली में सम्मिलित मतदाताओं से स्वैच्छिक रूप से आधार नम्बर एकत्र किये जाने सम्बंधी कार्य 01 अगस्त से आरम्भ होगा। आधार नम्बर के अपडेशन के लिये फार्म 6बी का प्रयोग किया जायेगा। निर्धारित फार्म 6बी हार्ड कापी में मतदाताओं से प्राप्त किये जाने हेतु बूथ लेविल अधिकारियों द्वारा दिनांक 01 अगस्त से घर-घर भ्रमण किया जायेगा।
अपर जिलाधिकारी प्रशासन शनिवार को कलक्ट्रेट स्थित लोकवाणी सभाकक्ष में राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों तथा एन0जी0ओ0 व स्वयंसेवी संगठनों के पदाधिकारियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने यह भी बताया कि मतदाता सूची से आधार लिंक कार्यक्रम में आयोग द्वारा दो विशेष कैम्प अगस्त माह में 2 तिथियां यथा- 07 अगस्त 2022 एवं 21 अगस्त 2022 दिन रविवार के लिये निर्धारित किया गया है। यह कैम्प जनपद के समस्त मतदेय स्थलों पर आयोजित किये जायेंगे, जहां पर मतदाता सूची में शामिल मतदाता फार्म-6बी में स्वैच्छिक रूप से अपना आधार नम्बर भरकर बूथ लेविल अधिकारियों को उपलब्ध करा सकते हैं। इन तिथियों में जनपद के समस्त 2259 बूथों पर बी0एल0ओ0 उपस्थित रहकर मतदाताओं से आधार नंबर एकत्रित करेंगे।
उन्होंने बताया कि आयोग के निर्देशानुसार मतदान केन्द्रों के पुनर्गठन का कार्य दिनांक 04.08.2022 से प्रारम्भ होगा तथा एकीकृत मतदाता सूची का आलेख्य प्रकाशन दिनांक 09.11.2022 को किया जायेगा।आयोग के निर्देशानुसार चार अर्हक तिथियां यथा- 01 जनवरी, 01 अप्रैल, 01 जुलाई एवं 01 अक्टूबर निर्धारित की गयी हैं, उक्त अर्हक तिथियों को या उससे पूर्व यदि कोई मतदाता 18 वर्ष की आयु पूर्ण करता है तो वह अपना नाम मतदाता सूची में शामिल करा सकता है।
अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने भारत निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाता सूची की गाइडलाईन की टाइम टेबिल के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने बताया कि आधार नम्बर के अपडेशन का कार्य मतदाता की इच्छा पर अर्थात स्वैच्छिक होगा।
सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि आधार नम्बर के अपडेशन के लिये 02 तरीके है-
1-आनलाइन प्रोसेस- मतदाता NVSP.in पर आधार नम्बर से लिंक मोबाइल नं0 जिस पर ओ0टी0पी प्राप्त होगा जिसकी सहायता से self authentication से आधार नम्बर अपडेट कर सकते हैं। यदिself authenticationफेल हो जाता हैं तो बिना ओ0टी0पी0 के प्रोसेस के आनलाईन फार्म 6बी आवश्यक अभिलेखांे के साथ उक्त प्रोर्टल पर भर सकते हैं।
2. आफ लाईन प्रोसेस- इस प्रक्रिया में बी0एल0ओ0 के माध्यम से घर घर जाकर मतदाताओं से स्वैच्छिक रूप से फार्म-6बी आवश्यक अभिलेखों के साथ प्राप्त किया जायेगा तथा सात दिन के भीतर बी0एल0ओ0 द्वारा गरूडा ऐप या निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अकधिकारी द्वारा ई0आर0ओ0 नेट पर digitized किये जायेगा। इस कार्य हेतु मुख्य निर्वाचन अधिकारी उ0प्र0/भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विधान सभा निर्वाचक नामावली संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान लगने वाले कैम्प में मतदाताओं से स्वैच्छिक रूप से फार्म-6बी प्राप्त किये जायेंगे।
उन्होंने बताया कि मतदाताओं द्वारा आधार नम्बर उपलब्ध कराना स्वैच्छिक है और इस आधार पर उनका नाम मतदाता सूची डाटाबेस से अपमार्जित नहीं किया जायेगा कि उनके द्वारा आधार नम्बर उपलब्ध नहीं कराया गया है। किसी भी परिस्थिति में प्राप्त आधार नम्बर को सार्वजनिक नहीं किया जायेगा।यदि मतदाता के पास आधार नम्बर नहीं है तो फार्म-6बी में दर्शाये गये 11 विकल्पों में से एक विकल्प की प्रति फार्म-6बी के साथ लगायी जायेगी। 01.08.2022 को जिला स्तर एवं विधानसभा स्तर पर राजनीतिक दल मीडिया, एन0जी0ओं0 एवं अन्य सहयोग से उक्त कार्यक्रम का शुंभारम्भ किया जायेगा।दिनांक 31.03.2023 तक 100 प्रतिशत मतदाताओं के आधार नम्बर को लिंक कराने का लक्ष्य रखा गया है। उक्त कार्य के लिए सम्बन्धित अधिकारियों एवं बी0एल0ओ0 को प्रशिक्षण दिया गया है। जागरूकता कार्यक्रम दिनांक 01.08.2022 से 31.12.2022 तक होगा।
बैठक में सुधीर खटीक(भाजपा), जिया चौधरी (समाजवादी पार्टी), विकास खादान (रालोद), राम सिंह (बी0एस0पी0), सुभाष उपाध्याय (सीपीआईएम), शिवराज त्यागी, लोकेश सिंह (एनसीसी), कुलदीप सिंह, विकास त्यागी, अनुराधा वर्मा, पूजा, वेदप्रकाश शर्मा, सरफराज आलम आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here