बाल सेवा योजना में 18 बच्चों को लैपटॉप वितरित

0
90

मुजफ्फरनगर । उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में 18 बच्चों को लैपटॉप वितरित किये गये।
उ0प्र0 सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना-उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अन्तर्गत 18 बच्चों को कलेक्ट्रेट स्थित लोकवाणी सभागार में लैपटॉप का वितरण किया गया। लैपटॉप का वितरण उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अन्तर्गत जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित जिला टास्क फोर्स द्वारा स्वीकृत किये गये 18 वर्ष से कम आयु के ऐसे बच्चों को प्रदान किये गये, जो कक्षा-9 या उससे ऊपर की कक्षा में अध्ययनरत् हैं। 09 बच्चों को पूर्व में लैपटॉप वितरित किये जा चुके हैं।
उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 02 जून, 2021 को प्रारम्भ की गयी है। योजना के अन्तर्गत 0 से 18 वर्ष की उम्र तक के ऐसे सभी बच्चे जिनके माता तथा पिता दोनों की मृत्यु कोविड-19 के संक्रमण से महामारी के दौरान हो गई हो या जिनके माता या पिता में से एक की मृत्यु 01 मार्च 2020 से पूर्व हो गयी थी तथा दूसरे की मृत्यु कोविड-19 के संक्रमण से महामारी के दौरान हो गयी हो या जिनके माता व पिता दोनो की मृत्यु 01 मार्च 2020 से पूर्व हो गयी थी तथा उनके वैध संरक्षण (Legal Guardian) की मृत्यु कोविड-19 के संक्रमण से महामारी के दौरान हो गई हो। योजना में 0 से 18 की उम्र तक के ऐसे सभी बच्चों को भी शामिल किया जायेगा जिन्होंने कोविड-19 के कारण अपने माता-पिता में से आय अर्जित करने वाले अभिभावक को खो दिया हो तथा वर्तमान में जीवित माता या पिता सहित परिवार की आय 03 लाख रूपये प्रतिवर्ष से अधिक न हो। योजना में कोविड-19 से मृत्यु के साक्ष्य के लिए Antigen या RT-PCR की +ve Test Report, Blood या C.T. Scan में covid-19 का Infection होना माना जा सकता है।
योजना के अंतर्गत प्रत्येक पात्र बच्चे को प्रतिमाह रुपए 4000 प्रदान किये जाने का भी प्राविधान है। योजना में बच्चों को कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय या अटल आवासीय विद्यालय में भी शिक्षा उपलब्ध कराई जा सकती है। आवश्यक होने पर प्रदेश में संचालित बाल ग्रहों में बच्चों को आवासित भी कराया जा सकता है। ऐसे बच्चे जो कक्षा 9 या उससे ऊपर की कक्षा में अध्ययनरत हैं उन्हें एक टैबलेट या लैपटॉप भी उपलब्ध कराया जाएगा। जनपद मुजफ्फरनगर में 37 बच्चों को टैबलेट/लैपटॉप उपलब्ध कराया जायेगा। विवाह योग्य बालिकाओं को विवाह के समय रुपये 1,01,000 की धनराशि भी उपलब्ध कराई जाएगी।
कार्यक्रम में अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) नरेन्द्र बहादुर सिंह, नगर मजिस्ट्रेट अनूप कुमार, जिला प्रोबेशन अधिकारी सतीश चन्द्र गौतम, जिला सूचना अधिकारी मिथलेश कुमार, सामाजिक कार्यकर्ता बीना शर्मा उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन बाल कल्याण समिति मुजफ्फरनगर के सदस्य डा0 राजीव कुमार द्वारा किया गया। महिला कल्याण विभाग से महिला शक्ति केन्द्र, मुजफ्फरनगर, जिला बाल संरक्षण इकाई एवं वन स्टॉप सेन्टर, मुजफ्फरनगर के पदाधिकारियों द्वारा कार्यक्रम में प्रबंधन किया गया। महिला कल्याण विभाग से शिवांगी महिला कल्याण अधिकारी, नीना त्यागी संरक्षण अधिकारी, हेमलता विधि सह परिवीक्षा अधिकारी, पूजा नरूला केन्द्र प्रबंधक, रेणू सिंह जिला समन्वयक, शिवम् जिला समन्वयक, शरमीन जैदी, महिला आरक्षी सीमा चौधरी, बिलकीस जहां, पूजा देवी सामाजिक कार्यकर्ता, आंकडा विश्लेषक सचिन कुमार, मौ0 आरिफ, पारूल, अजय कुमार, संजय कुमार, नाथीराम, पूरनमल, बाल कल्याण समिति के सदस्य संदीप कुमार, रीना देवी एवं पिंकी रानी इत्यादि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here