मुजफ्फरनगर की किशोरी से हरिद्वार में दुष्कर्म के बाद बाद बेचा

0
283

हरिद्वार । सिडकुल क्षेत्र में निर्माणाधीन भवन में मजदूरी करने वाली एक नाबालिग को ठेकेदार ने दुष्कर्म करने के बाद 80 हजार रुपये में मप्र निवासी व्यक्ति को बेच दिया। इस दौरान व्यक्ति के पड़ोस में रहने वाले दो युवकों ने भी नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने मामले में किशोरी को बरामद कर ठेकेदार व उसकी मुंहबोली बहन सहित पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया है। कोर्ट में पेश करने के बाद आरोपितों को जेल भेज दिया गया।
सिडकुल थाने में इंस्पेक्टर प्रमोद उनियाल ने बताया कि सिडकुल में रहने वाले व मूल रूप से मुजफ्फरनगर निवासी एक परिवार की नाबालिग बेटी बीती 26 मई को गायब हो गई थी। किशोरी के भाई ने सिडकुल थाने में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए एक युवक पर शक जताया था। मामले की जांच कोर्ट चौकी प्रभारी रघुवीर रावत को सौंपी गई। मोबाइल काल की डिटेल निकालने और साथ काम करने वालों से पूछताछ के बाद पुलिस ने किशोरी को बरामद करते हुए सिडकुल क्षेत्र से पांच आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया।
पड़ताल में सामने आया कि किशोरी किरतपुर बिजनौर निवासी ठेकेदार मोनू की सिडकुल में चल रही साइट पर मजदूरी करती थी। ठेकेदार मोनू ने अपनी मुंहबोली बहन लक्ष्मी व उसके पति राजपाल निवासी मक्खनपुरा, छतरपुर मध्य प्रदेश की मदद से उसका अपहरण कर लिया। इसके बाद तीनों ने सिडकुल क्षेत्र में ही रहने वाले छतरपुर मध्य प्रदेश निवासी नंदलाल को 80 हजार रुपये में किशोरी को बेच दिया। नंदलाल कुछ दिन बाद किशोरी से शादी करने वाला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here