पब जी के लिए मां का हत्यारा क्यों बना किशोर?

0
80

लखनऊ: राजधानी में 7 जून की घटना ने उस वक़्त सभी को झकझोर दिया था, जब 16 साल के बेटे ने PUBG खेलने से रोकने पर अपनी मां की हत्या कर 3 दिन तक उसके शव को घर में छुपाए रखा था. घटना के सामने आने के बाद रोजाना नए-नए खुलासे हो रहे हैं. पुलिस इसे सीधा केस मानकर अपनी कार्रवाई बढ़ा रही है तो वहीं, बाल कल्याण समिति (CWC) ने बेटे की काउंसलिंग की तो कुछ और ही तथ्य सामने आ रहे है. सामने आया है कि बेटा ऑनलाइन गेम का आदी नहीं है बल्कि उसे आउटडोर स्पोर्ट्स पसंद थे. यही नहीं काउंसलिंग में सामने आया है कि कोई शख्स ऐसा था जो बेटे को मां के खिलाफ भड़का रहा था और उसने इस कदर जहर भर दिया था कि बेटा मां को मारने के लिए किसी भी हद तक उतर सकता था. ऐसे में अब पुलिस व CWC की काउंसलिंग के बाद कि थ्योरी में अंतर है. ऐसे में इस हत्याकांड को लेकर फिर से कई सवाल उठने लगे हैं

बेटे से काउंसलिंग के सवाल-जवाब

बेटा आप ने मम्मी को मारा ?
हां

आप PUBG खेलते हो?
टाइम पास के लिए, मुझे तो क्रिकेट और फुटबॉल पसंद है.

अगर PUBG गेम बंद हो जाए तो क्या करोगे?

PUBG तो टाइम पास है, बंद हो जाएगा तो क्रिकेट खेल लूंगा.

बेटा आपके दोस्त कौन-कौन है ?
बहुत सारे है, सब अच्छे हैं.

कितनी गर्ल आपकी फ्रेंड हैं ?
एक भी नही.

स्कूल में लड़ाई हुई है कभी ?
मुझे बुरा लगता था तो मैं मारता था सबको.

मम्मी ने कभी मारा ?
हां, बहुत बार मारा, गलती नही होती थी तब भी मरती थी.

तुमको गुस्सा आता था जब मारती थी ?
हां, आता था लेकिन दोस्त बताते है कि सभी की मम्मी मारती है.

पापा तो अच्छे है न ?
नहीं, पापा से कोई बात कहो तो सुनते नही थे. उल्टा मुझसे कहते थे जो मन में आए कर दो.

मम्मी मारती थी तो पापा क्या कहते थे?
बोलते थे, जो मन में आए करो.

क्या मां के बारे में आप से कोई बातचीत करता था?
चुप

क्या कोई कहता था कि आपकी मां आपसे प्यार नहीं करती?
चुप

आप दादी-नानी और चाचा-मामा में किसको ज्यादा प्यार करते हो?
नानी और मामा

रिसर्च विंग जहर भरने वाले कि करेगी तलाश

CWC व बाल अधिकार संरक्षण ने मां की हत्या के आरोपी बेटे की काउंसलिंग करने व सवाल-जवाब के बाद ये दावा किया ही है कि बेटा अपनी मां से इतना नाराज नहीं था कि वह उसकी हत्या कर दे. उनके मुताबिक बेटे को मां के खिलाफ काफी दिनों से भड़काया जा रहा था. इसी को जानने के लिए उन्होंने पहली बार एक रिसर्च विंग तैयार की है, जिसमें दो मनोवैज्ञानिक, 2 वरिष्ठ अधिवक्ता, 1-1 बाल आयोग व CWC सदस्य शामिल हैं, जो यह पता लगाने की कोशिश करेंगे कि आखिर इस बच्चे को उसकी मां के खिलाफ कौन भड़का रहा था? ये विंग आरोपी बेटे के ननिहाल व पापा के परिवार से पूछताछ करेगी.

पुलिस सभी दावों को कर रही दरकिनार

हत्याकांड की विवेचना कर रहे इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह कई काउंसलिंग को दरकिनार कर रहे हैं. उनके मुताबिक, बेटे ने अपनी मां की हत्या खुद की नाराजगी के चलते ही कि है और यही नही हत्या के पीछे मुख्य कारण PUBG गेम न खेलने देना ही है.
एडीसीपी कासिम आब्दी का कहना है कि घटना के बाद ही बेटे के बयान के अनुसार ही उसे आरोपी माना गया था, जो भी उसने बताया उसे जांच में शामिल किया गया है लेकिन विवेचक को कहा गया है कि परिवार के सभी सदस्यों की कॉल डिटेल रिपोर्ट की एनालिसिस की जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here